Blogger Widgets
धर्मजागृति, हिंदू-संगठन एवं राष्ट्ररक्षा हेतु साधकोंद्वारा साधनास्वरूप आर्थिक हानि सहते हुए भी चलाया जानेवाला एकमात्र मासिक !
सितम्बर २०१४

श्रीराम सेनाके प्रमोद मुतालिक और उनके सहयोगियोंपर गोवामें प्रवेश हेतु अस्थायी प्रतिबन्ध !

    पणजी (गोवा) - मुख्यमन्त्री मनोहर पर्रीकरने विधानसभामें २१ अगस्तको कहा कि पुलिसद्वारा दिए ब्यौरेके अनुसार जनपदाधिकारीने धारा १४४ के अन्तर्गत श्रीराम सेनाके अध्यक्ष श्री. प्रमोद मुतालिक और उनके सहयोगियोंको गोवामें आनेपर ६० दिनोंके लिए प्रतिबन्ध लगाया है ।
    देश एवं संस्कृतिप्रेमी श्री. प्रमोद मुतालिकपर लगाए गए प्रतिबन्धके सन्दर्भमें विधायक और मन्त्रियोंने विधानसभामें तथा विधानसभाके बाहर व्यक्त की प्रतिक्रियाएं - 

विरोधके पश्‍चात सिंघम रिटर्न्सके धर्मद्रोही संवाद हटाए गए !

(बाएंसे) क्रिएटिव दिग्दर्शक एवं इम्फाके सदस्य श्री. अशोक पंडित,
हिन्दू जनजागृति समितिके समन्वयक श्री. शिवाजी वटकर, इम्फाके अध्यक्ष श्री. टी.पी अग्रवाल,
दिग्दर्शक रोहित शेट्टी, समितिके राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री. रमेश शिंदे, अभिनेता श्री. अजय देवगन,
हिन्दू विधिज्ञ परिषदके अध्यक्ष एड्. वीरेन्द्र इचलकरंजीकर, अरविंद पानसरे
   मुंबई (महाराष्ट्र) - हिन्दुत्वनिष्ठोंका विरोध होनेपर सिंघम रिटर्न्र्स के धर्मद्रोही संवाद हटा दिए गए । स्वतन्त्रता दिवसके अवसरपर प्रदर्शित करनेसे स्पष्ट हो गया कि इस चलचित्रसे प्रवचन शब्दका अपमान एवं मस्जिदमें वर्दी पहने हुए पुलिसद्वारा गोल टोपी पहनकर माथा टेकने एवं मस्जिदको सैल्यूट करनेका दृश्य हटाया गया है ।

हिन्दुओंकी शिक्षाप्रणाली भगवद्गीता जैसे महान ग्रन्थोंपर आधारित है, अत: हिन्दू आतंकवाद हो ही नहीं सकता ! - हिमानी सावरकर

हिन्दू जनजागृति समितिकी ओरसे इंदौरमें
'मालेगांव बमविस्फोटके पीछेका अदृश्य हाथ' ग्रन्थका लोकार्पण 

ग्रन्थका लोकार्पण करते हुए बाएंसे अधिवक्ता देवेन्द्र पेंडसे,
श्री. विक्रम भावे, श्रीमती हिमानी सावरकर, अधिवक्ता संजीव पुनाळेकर
      इंदौर (म.प्र.) - यहांके इंदौर प्रेस क्लबमें ३ अगस्तको मालेगांव बमविस्फोटके पीछेका अदृश्य हाथ ग्रन्थका लोकार्पण समारोह सम्पन्न हुआ । इस अवसरपर व्यासपीठपर अखिल भारतीय हिन्दू महासभाकी अध्यक्षा श्रीमती हिमानी सावरकर, हिन्दू विधिज्ञ परिषदके सचिव एड्. संजीव पुनाळेकर, ग्रन्थके लेखक श्री. विक्रम भावे एवं एड् देवेंद्र पेण्डसे उपस्थित थे । इस कार्यक्रममें मालेगांव बमविस्फोटके पीडित श्री. श्याम साहू एवं श्री. शिवनारायण कलसंग्रा भी उपस्थित थे और उन्होंने अपने अनुभव बताए ।

मुसलमान युवती जूते पहनकर नन्दीपर बैठी !

    सरिना नामक एक मुसलमान युवतीने शिवमन्दिरमें जूते पहनकर नन्दीपर बैठते हुए अपना छायाचित्र खिंचवाकर इंटरनेटद्वारा सर्वत्र प्रसारित किया है ।
हिन्दुओ, आपके आस्थास्थानोंका अनादर करनेका
साहस कोई नहीं करेगा, ऐसी धाक कब निर्माण करोगे ?

तेलंगानामें सरकारी विद्यालयके कट्टरपन्थी मुख्याध्यापक मुहम्मद शरीफकी विषैली फुफकार त्यागपत्र दे दूंगा; परन्तु राष्ट्रध्वज नहीं फहराऊंगा !

    खम्माम (तेलंगाना) - सुरडेपल्ली गांवके सरकारी विद्यालयके मुख्याध्यापक मुहम्मद शरीफने १५ अगस्तको राष्ट्रध्वज फहरानेसे स्पष्ट मना कर दिया और कहा, न तो मैं तिरंगा फहराऊंगा और न ही उसे सेल्यूट करूंगा; इसलिए कि राष्ट्रध्वजको सेल्यूट करना कुरानके विरुद्ध है । ऐसा कहते हुए वे बिना राष्ट्रध्वज फहराए ही वहांसे निकल गए । (ऐसे देशद्रोहियोंपर बन्दी बनाकर उनपर कठोर कार्यवाही करनी चाहिए ! - सम्पादक)

हिन्दूत्वनिष्ठ संगठनोंके प्रबोधनके पश्‍चात म्हापसा (गोवा) में प्रतिष्ठानद्वारा बालगणेशका अनादर करनेवाला फलक (होर्डिंग) हटाया गया !

हिन्दुओ, इस सफलता के लिए ईश्‍वर चरणोंमें कृतज्ञता व्यक्त करें !
    म्हापसा (गोवा) - म्हापसा-पणजी महामार्गपर नीओ कलेक्शन (शॉपिंग मॉल) प्रतिष्ठानके फलकपर बालगणेशका अनादर करनेवाला विज्ञापन था । उस सम्बन्धमें शिवसेना, हिन्दू जनजागृति समिति, सनातन संस्था आदि हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनोंद्वारा प्रतिष्ठानके व्यवस्थापनका प्रबोधन किया गया ।

'आस्क मी बाजार डॉट कॉम' द्वारा हिन्दुओंके श्रद्धास्थानोंका अनादर

भगवा वस्त्रमें साधुको तंग एवं
अल्प वस्त्रोंमें अभिनेत्रीके साथ नाचते हुए दिखाना
  • मान्य नहीं कि यह अनादर है
  • जनजागृति समितिद्वारा विरोध
     मुंबई (महाराष्ट्र) - आस्क मी बाजार डॉट कॉम इस जालस्थल (वेबसाइट)का विज्ञापन बनाते समय एक भगवा वेशधारी साधु एवं अल्पवस्त्र पहने हुए अभिनेत्रीको नाचते हुए दिखाया गया है । इस अनादरके कारण हिन्दुओंकी भावनाएं आहत हुई हैं, ऐसा परिवाद करनेपर भी प्रतिष्ठानने यह कहते हुए अमान्य किया कि इस विज्ञापनद्वारा कोई अनादर नहीं हो रहा है । (हिन्दुओंकी धर्मभावनाओंका अनादर कर, उसे अमान्य करनेवाले हिन्दूद्वेषी ही हैं !  हिन्दुओंकी सहिष्णुताका अनुचित लाभ उठानेवालोंका विरोध करने हेतु हिन्दू संगठनके अतिरिक्त कोई चारा नहीं ! - सम्पादक)

देश और तिरंगेके अनादरका विरोध करनेमें यदि असमर्थ हों, तो केन्द्र सरकार स्वयं सत्ताच्युत हो जाए ! पू. डॉ. चारुदत्त पिंगळे

देहलीके जंतर-मंतरपर राष्ट्रीय
हिन्दू आन्दोलनमें सम्मिलित धर्माभिमानी हिन्दू
    देहली - हिन्दू जनजागृति समितिके राष्ट्रीय मार्गदर्शक पू. डॉ. चारुदत्त पिंगळेने समितिकी ओरसे जन्तर-मन्तरमें कुछ दिन पूर्व ही आयोजित राष्ट्रीय हिन्दू आन्दोलनमें प्रतिपादित किया कि यह अनाकलनीय है कि कॉमनवेल्थ गेम्समें भारत देश और तिरंगे राष्ट्रध्वजके अनादरके प्रकरणमें मोदी सरकार मौन है । इस प्रतियोगिताके उद्घाटन समारोहमें विविध देशोंके नाम लिखे कपडे कुत्तोंको पहनाकर घुमाया गया । इसमें भारत (इंडिया) लिखे कुत्तेके गलेकी डोर एक महिलाके हाथमें थी ।

गणेशोत्सव - वास्तव और आदर्श, यह दृश्यश्रव्य-चक्रिका देखकर पुलिस प्रभावित !

दहिसर (पूर्व) की मोहल्ला समितिकी
बैठकमें सनातन संस्थाद्वारा निर्मित दृश्यश्रव्य-चक्रिकाका प्रक्षेपण !
    मुंबई (महाराष्ट्र) - दहिसर (पूर्व) पुलिस थानेके सहायक पुलिस आयुक्त श्री. दिलीप रूपवतेने कहा, सनातन संस्थाद्वारा प्रदर्शित दृश्यश्रव्य-चक्रिका (वीसीडी), गणेशोत्सव - वास्तव और आदर्श सभी गणेशोत्सव मण्डलोंके लिए मार्गदर्शक सिद्ध होगी । वे यहांके डी.एम्. हाईस्कूलके सभागृहमें आयोजित मोहल्ला समितिकी बैठकको सम्बोधित कर रहे थे ।  इस समय सनातन संस्थाद्वारा प्रकाशित दृश्यश्रव्य-चक्रिका गणेशोत्सव - वास्तव आणि आदर्श, सभीको दिखाई गई । सनातन संस्थाके श्री. सदानंद पांचाळने श्रीगणेश देवतासम्बन्धी शास्त्रीय जानकारी देकर आवाहन किया कि, देवता और धर्मका हो रहा अनादर रोकने हेतु आदर्श गणेशोत्सव मनाएं ।

राष्ट्रीय सुरक्षाके प्रति कल्पनातीत दायित्वशून्यता दिखानेवाला भारत, विश्‍वका एकमात्र देश !

भारतीय सुरक्षासे सम्बन्धित जानकारी प्रकाशित करनेके कारण
गूगलके विरोधमें पूरे डेढ वर्षके उपरान्त परिवाद प्रविष्ट !
    नई देहली - भारतीय सुरक्षासे सम्बन्धित जानकारी सर्वे ऑफ इण्डियाकी अनुमति लिए बिना ही जालस्थलपर रखनेके कारण केन्द्रीय अन्वेषण तन्त्रने गूगलके विरोधमें परिवाद प्रविष्ट कर, पूछताछ आरम्भ की गई है । मार्च २०१३ में गूगलने भारतके अतिमहत्त्वपूर्ण जालस्थल तथा संवेदनशील भाग गूगलपर रखकर (मैपिंग कर) सार्वजनिकरूपसे यह जानकारी प्रसिद्ध की थी । इस सम्भावित संकटको देखते हुए चीनने पहलेसे ही सुरक्षासे सम्बन्धित जानकारी प्रसारित करनेसे गूगलको प्रतिबन्धित किया है ।

उत्तरप्रदेशमें शासकीय भूमिपर भव्य मस्जिदका निर्माण !

प्रशासकीय अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपालद्वारा
की गई कार्यवाहीसे सम्बन्धित अवैध मस्जिदका प्रकरण
    कादलपुर (ग्रेटर नोएडा) - ग्रेटर नोएडाकी तत्कालीन प्रान्ताधिकारी दुर्गा शक्ति नागपालने २७ जुलाई २०१३ को कादलपुरकी शासकीय भूमिपर निर्माण की जा रही अवैध मस्जिदकी दीवार किसीके भी दबावमें न आकर गिराई थी । तत्पश्‍चात उत्तरप्रदेश शासनने उनपर धार्मिक भावनाओंको भडकानेका आरोप लगाकर उन्हें निलम्बित किया था । उसी स्थानपर अब भव्य मस्जिदका निर्माण हो रहा है ।

लोकमान्य तिलकपर बनाई गई चलचित्रकी प्रतियां सांस्कृतिक विभागद्वारा खो गईं ! चलचित्र तुरन्त प्रदर्शित हो, इसलिए १ अगस्तको पुणेमें हस्ताक्षर अभियान !

 हिन्दुओंकी धर्मभावनाओंकी उपेक्षा कर, क्रूरकर्मी अकबरपर निर्मित चलचित्रपर
मोटी धनराशिका (अप)व्यय कर, धूमधामसे प्रदर्शित किया जाता है; परन्तु लोकमान्य तिलक जैसे राष्ट्रपुरुषोंसे सम्बन्धित चलचित्र हेतु हस्ताक्षर अभियान चलाना पडता है,
यह हिन्दुओंके लिए खेदपूर्ण !
     पुणे (महाराष्ट्र) - भारतीय स्वतन्त्रताका सुवर्णमहोत्सव मनानेके लिए केन्द्रशासनद्वारा विविध कार्यक्रमोंका नियोजन किया गया था । इसमें स्वतन्त्रता संग्रामके अग्रणी व्यक्तियोंके कार्यपर भी चलचित्र बनानेकी योजना निश्‍चित की गई; परन्तु जनताके ढाई करोड रुपए व्यय होनेपर भी लोकमान्य तिलकपर निर्मित चलचित्र देखने नहीं मिला । जनताद्वारा अर्पित धनद्वारा, लोकमान्य बाल गंगाधर तिलकपर निर्मित चलचित्रकी प्रतियां सांस्कृतिक विभागने खो दी हैं । राष्ट्रप्रेमी सजग नागरिक मंचद्वारा गत दो वर्षोंसे निरन्तर पत्राचार करनेपर भी चलचित्र प्रदर्शित करने सम्बन्धी कोई जानकारी नहीं मिली । अत: यथाशीघ्र चलचित्रके प्रदर्शित करनेकी मांगको लेकर सजग नागरिक मंचद्वारा पुणेवासियोंके हस्ताक्षरोंका अभियान आरम्भ किया । (राष्ट्रप्रेमी सजग नागरिक मंचका अभिनन्दन ! कट्टरपन्थियोंसे सम्बन्धित प्रकरणमें सांस्कृतिक विभाग क्या कभी ऐसी उदासीनता दर्शाता ? - सम्पादक)

बलात्कारियोंद्वारा निःवस्त्र कर, निर्ममतासे पीडित महिलाकी पिटाई, शरीरमें ठोके कील !

बलात्कारियोंको तुरन्त फांसीपर चढानेसे ही ऐसी घटनाएं बन्द होंगी !
    रोहतक (हरियाणा) - पीडित महिलासे प्राप्त जानकारीके अनुसार, ढाई माह पहले २ युवकोंने उसे धमकी देते हुए उसपर बलात्कार किया था । इसपर पीडित महिलाने इन युवकोंके विरोधमें पुलिसमें परिवाद लिखवाया । अत: प्रतिशोध लेनेके उद्देश्यसे इन युवकोंने २३ जुलाईको इस महिलाके घरमें घुसकर उसके पतिको एक कक्षमें बन्द कर दिया । तदुपरान्त महिलाको नि:वस्त्र कर, निर्ममतासे पीटा तथा उसके शरीरमें २ कीलें ठोक दीं । इससे वह महिला बुरी तरह घायल हो गई ।

कक्षा ९ से १२ वीं की मराठी और अंग्रेजी पुस्तकोंमें ३७२ चूकें !

पुस्तकोंमें बार-बार चूकें करनेवाले शिक्षा मण्डलके संबंधित व्यक्तियोंपर शासन
कार्यवाही करेगा क्या ? ऐसा शिक्षा मण्डल क्या विद्यार्थियोंका भविष्य बना सकेगा ?
इसके लिए उत्तरदायी लोगोंको हिन्दू राष्ट्रमें आजन्म कठोर साधनाका दण्ड दिया जाएगा ?
    पुणे (महाराष्ट्र) - महाराष्ट्र राज्य माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा मण्डलने कक्षा ९ वीं की पुस्तकमें १९६, १० वीं की पुस्तकमें ८४ और ११ वीं की ३७ एवं १२ वीं की पुस्तकमें ५५ चूकें थी । कुछ मान्यवरोंके नामके पहले डॉक्टर नहीं लिखा है, तो कुछ लोग प्राध्यापक अथवा प्राचार्य न होते हुए भी उनका वैसा उल्लेख किया गया है । अंग्रेजी पुस्तकमें and शब्दके स्थानपर or लिया है ।  अत: ९ वीं से १२ वीं की पुस्तकोंमें ३७२ चूकें सुधारनेके लिए एक शुद्धिपत्रक प्रकाशित किया है । (लापरवाहीका  उच्चांक ! अब इन चूकोंको सुधारनेके लिए होनेवाला व्यय, चूकोंके लिए उत्तरदायी व्यक्तियोंसे ही वसूल किया जाना चाहिए !  सम्पादक)

न्यायाधीश महाशयने आइटम साँगपर नृत्य करनेके लिए कहा - महिला न्यायाधीशका आरोप

किसी रोड-रोमियो की भान्ति वर्तन करनेवाले
न्यायाधीशोंको न्यायदानका नैतिक अधिकार नहीं रहता ।
हिन्दू राष्ट्रमें ऐसे न्यायाधीशोंपर कठोर कार्यवाही की जाएगी !
     ग्वालियर (म.प्र्र.) - द टाइम्स ऑफ इंडियामें ऐसा समाचार प्रकाशित हुआ कि यहां की एक महिला अतिरिक्त जनपद न्यायाधीशने ४ अगस्तको उच्च न्यायालयके एक न्यायाधीश महाशयद्वारा आइटम साँगपर नृत्य करनेके लिए बुलाए जानेका आरोप लगाया ।

खण्डवामें जनपदाधिकारी कार्यालयमें ७ घण्टोंतक फहराता रहा फटा हुआ तिरंगा !

ऐसी घटनाआेंको प्रसिद्धि न देनेवाले प्रसारमाध्यम देशद्रोही ही हैं !
    खण्डवा (म.प्र.) - यहांके जनपदाधिकारी कार्यालयमें भारतका राष्ट्रध्वज फटी हुई स्थितिमें लगभग ७ घण्टोंतक फहराता रहा था । फटा हुआ तिरंगा फहराना, एक प्रकारसे तिरंगेका अनादर करनेसमान है और इसके लिए ३ वर्षोंतकके दण्डका प्रावधान है । (राष्ट्रध्वजका अनादर करनेवालोंपर क्या कार्यवाही की गई ? ऐसी चूकें करनेवालोंको निरंकुश छोडनेवाले अधिकारी भी क्या देशद्रोही नहीं हैं ? - सम्पादक)

गोवामें हिन्दुत्वनिष्ठ सोशल मिडिया कार्यकर्ता शिविरका सम्पन्न !

सोशल मिडिया क्षेत्रमें कार्यरत धर्मप्रेमियोंका संगठन आवश्यक !
- श्री. रमेश शिंदे, राष्ट्रीय प्रवक्ता, हिन्दू जनजागृति समिति
बाएंसे पनून कश्मीरके श्री. राहुल राजदान,
एस.एस.आर.एफ.के पू. सिरीयाक वाले व श्री. शिंदे
     रामनाथी (गोवा) - अगस्त माहमें हिन्दू जनजागृति समितिद्वारा सनातनके रामनाथी आश्रममें दो दिवसीय हिन्दुत्वनिष्ठ सोशल मिडिया कार्यकर्ता राष्ट्रीय शिविर सम्पन्न हुआ । इस शिविरमें समितिके राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री. रमेश शिंदेने उपस्थितोंको सम्बोधित किया । उन्होंने कहा, सोशल मिडियामें भारतके प्रधानमन्त्री निश्‍चित करनेकी शक्ति है, यह लोकसभाके चुनावसे सिद्ध हो गया है । वास्तवमें यदि भारतका उत्थान करना है, तो हिन्दू राष्ट्र स्थापित करना आवश्यक है । अत: इस क्षेत्रमें सक्रिय धर्मप्रेमियोंका संगठन आवश्यक है ।

ऐसे सांसदोंको केवल नोटिस नहीं, अपितु मोदी शासन उनपर कठोर कार्यवाही करे !

संसदमें उपस्थिति लगाकर तुरन्त निकल जानेवाले
२० गम्भीरताहीन सांसदोंको मोदीद्वारा नोटिस
    नई देहली - संसदमें उपस्थिति लगाकर तुरन्त निकल जानेवाले गम्भीरताहीन २० सांसदोंको मोदीने नोटिस दी है । इनपर  दलके विप (पक्षादेश) और संसदके अधिवेशनसम्बन्धी गम्भीरता न होनेका आरोप लगाया गया है । (ऐसा केवल भारतमें ही हो सकता है !)

उज्जैनमें कावड यात्राके शिवभक्तोंपर मध्यप्रदेश पुलिसने बरसाई लाठियां; २ बालकोंके साथ २१ श्रद्धालु घायल

    उज्जैन (म.प्र.) - श्रावणके पहले सोमवारको मुख्यमन्त्री शिवराज सिंह चौहान श्री महाकालके दर्शन हेतु आनेवाले थे । अत: वहां लगी श्रद्धालुआेंकी भीडको खदेडनेके लिए पुलिसने उनपर लाठियां बरसाईं ।

सहारनपुरमें गुरुद्वारा हथियानेके लिए कट्टरपन्थियोंद्वारा की गई प्रचण्ड हिंसामें ५ से अधिक लोगोंकी मृत्यु, अनेक घायल !

सहारनपुरमें कट्टरपन्थियोंने जलाए वाहन
    सहारनपुर (उ.प्र.) - यहां गुरुद्वाराकी भूमि हथियानेके प्रकरणने २६ जुलाईको भीषण रूप धारण किया । कट्टरपन्थियोंने अंधाधुंध पथराव, आगजनी और गोलीबारी की । १०० से अधिक दुकानोंके साथ अग्निशमन दलके कार्यालयमें भी आग लगाई । इसमें ५ लोगोंकी मृत्यु और अनेक लोग घायल हुए । नगरके विद्यालय-महाविद्यालय बन्द कर दिए गए और स्थानीय प्रशासनने हिंसा करनेवालोंको दिखते ही गोली मारनेके आदेश दिए । वहांकी परिस्थिति तनावपूर्ण होनेसे कर्फ्यू लगा दिया गया और वायुदलकी टुकडी और सेनाको भी बुला लिया गया ।
  • कट्टरपन्थियोंने १०० से अधिक दुकानें जलाईं !
  • हवाई दल और सेनाको बुलाया गया !
  • दिखते ही गोली मारनेके प्रशासनद्वारा आदेश !

भारत करेगा नेपाल स्थित पशुपतिनाथ मन्दिरका विकास !

    प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी जब दो दिवसीय नेपाल यात्रापर थे, तब उन्होंने अपनी यात्राके अन्तिम दिन एक संयुक्त बयानमें कहा कि  भारत सरकार नेपालकी राजधानी काठमांडुमें स्थित सुप्रसिद्ध पशुपतिनाथ मन्दिरके विकासमें सहायता करेगी । मन्दिरके दर्शन हेतु आनेवाले तीर्थयात्रियोंके लिए एक धर्मशाला बनाने और मन्दिरकी ऐतिहासिक धरोहरोंका संरक्षण करने हेतु भारत सरकार २५ करोड रुपये व्यय करेगी । साथ ही यहांके जनकपुर, बराह क्षेत्र, लुंबिनी और लिंक लुंबिनीको बुद्धिस्ट सर्किटके रूपमें विकसित करनेमें भी सहयोग देगी ।

हिन्दुओंको मुसलमानोंके लिए अनुकूल तृणमूल कांग्रेसको सत्ता सौंपनेका दण्ड भुगतना पड रहा है ! बंगालके हिन्दुओंकी इस दयनीय स्थितिमें परिवर्तन लानेके लिए मोदी सरकार क्या करनेवाली है ?

मुर्शिदाबाद (बंगाल) में श्मशानभूमिमें हिन्दुओंको
अन्तिम संस्कार करनेके लिए मुसलमानोंद्वारा प्रतिबन्ध !
     मालदा (बंगाल) -  बंगालके मुसलमानबहुसंख्यक क्षेत्रके हिन्दुओंको अब अपनी ही मातृभूमिसे विलग होनेकी घडी आ गई है । बंगालके जनपद मुर्शिदाबादके अर्जुनपुरमें गंगा नदीके तटपर स्थित २०० वर्ष पुरानी श्मशानभूमिमें अन्तिम संस्कार करनेके लिए मुसलमान हिन्दुओंपर  प्रतिबन्ध लगा रहे हैं ।
१. बांग्लादेशी मुसलमान घुसपैठिए यहांके सांकोपारा रेलस्थानकके पास स्थायी हो गए हैं और हिन्दुओंकी भूमि हथिया कर, उन्हें स्थानान्तरणके लिए बाध्य कर रहे हैं ।

पांच पैसेके लिए देहली परिवहन महामण्डलने किया ४१ वर्ष न्यायालयीन संघर्ष !

हिन्दू राष्ट्रमें घटनाका मूल्यांकन जाननेवाली न्यायव्यवस्था होगी ! 
    नई देहली - ऐसी जानकारी प्राप्त हुई है कि रणवीर सिंह नामक व्यक्ति अपने ही एक कर्मचारीके साथ पांच पैसेके अनुचित व्यवहारके प्रकरणमें देहली परिवहन महामण्डल १९७३ से अर्थात गत ४१ वर्षसे न्यायालयीन संघर्ष कर रहा है । अब यह प्रश्‍न उठता है कि प्रतिवर्ष लगभग एक सहस्र करोडकी हानि सहनेवाले इस महामण्डलने पांच पैसेके इस संवैधानिक संघर्षके लिए कितना पैसा व्यर्थ किया होगा ?

अफ्रीकाके कैमरून देशमें ३८ लाख युवतियां ब्रेस्ट आयरनिंगकी चढीं बलि !

    अक्टूबर २०१३ के वुमेन्स एराके अनुसार यहां जब लडकियोंकी स्तनवृद्धिका प्रारम्भ होता है, तब वे पुरुषोंका आकर्षण न बनें, इसलिए उनकी स्तनवृद्धिपर रोक लगाई जाती है । इसके लिए स्तनोंपर लकडीकी पट्टियोंसे अथवा लोहेसे आघात किए जाते हैं । इससे स्तनोंकी रक्तवाहिनी मृत हो जाती हैं और उनकी वृद्धि भी थम जाती है । इससे युवतियोंको स्तनका कर्करोग हो जाता है ।

हिन्दू युवको, फ्रेण्डशिप डे जैसी पाश्‍चात्य विकृतिके अधीन न हो, अपितु धर्मशिक्षा लेकर हिन्दू संस्कृतिनुसार आचरण करें !

    अगस्त माहके प्रथम रविवारको युवा वर्ग फ्रेण्डशिप डे मनाता है ।  वास्तविकता यह है कि राष्ट्रके संकटमें होते हुए, ऐसे अनावश्यक दिन मनानेकी अपेक्षा सभी मित्रोंका राष्ट्र, धर्म और हिन्दू संस्कृतिपर हो रहे आघातोंके सन्दर्भमें उद्बोधन कर उन्हें राष्ट्रकार्यार्थ सक्रिय बनाना, यही राष्ट्र-धर्मके प्रति खरी मित्रता है !       

हिन्दुओ, सर्वधर्मसमभावका ढोंग कर, ईसाई धर्मका प्रसार करनेका ईसाईयोंका षड्यन्त्र समझ लें और इस षड्यन्त्रको विफल करनेके लिए संगठित हो जाएं !

ओडिशाके कॉन्वेण्ट विद्यालयकी पाठ्यपुस्तकमें हिन्दुआेंकी प्रार्थनामें
ईसाका, तो बुद्धकी प्रार्थनामें अल्लाहका उल्लेख कर किया दिशाभ्रम !
सेण्ट जोजफ कॉन्वेण्ट हायर सेकण्डरी स्कूल नामक अंग्रेजी माध्यमकी
पुस्तककी प्रार्थनामें अल्लाह और ईसाके उल्लेखकी पंक्तियां वर्तुलमें दिखाई हैं ।
    ओडिशा - ओडिशाके सेण्ट जोजफ कॉन्वेण्ट हायर सेकण्डरी स्कूल नामक अंग्रेजी माध्यमके विद्यालयमें पुस्तकद्वारा विद्यार्थियोंपर योजनाबद्ध रीतिसे ईसाई पन्थके संस्कार करनेके प्रयत्न किए जा रहे हैं ।

रमजान ईदपर पुणेमें हिन्दुओंके विद्यालयमें कट्टरपन्थी शिक्षिकाने बलपूर्वक विद्यार्थियोंसे नमाज पढवाया !

शिवसेनाके विरोधके उपरान्त विद्यालय व्यवस्थापनने शिक्षिकाको फटकारा !
किसी उर्दू विद्यालयमें नवरात्रिके समय नामजप किया जाना, कभी सुना है क्या ? 
     पुणे (महाराष्ट्र) - रमजान ईदके दिन एक कट्टरपन्थी शिक्षिकाने सर्व विद्यार्थियोंको गोल टोपी पहनकर, विद्यालयमें आनेके लिए कहा और उनसे बलपूर्वक नमाज पढवाया । (आजतक सर्वदलीय राज्यकर्ताओंद्वारा की गई कट्टरपन्थियोंकी चापलूसीके कारण ही ये इतनी उद्दण्डता करते हैं । इसमें परिवर्तन लानेके लिए हिन्दू राष्ट्रकी स्थापना अनिवार्य है ! - सम्पादक) शिवसैनिकोंने इसकी जानकारी मिलते ही आन्दोलन छेडा और विद्यालयके व्यवस्थापनको फटकारा । (धर्मके लिए तत्परतासे कदम उठानेवाले शिवसैनिकोंका अभिनन्दन ! हिन्दुओ, शिवसैनिकोंका आदर्श लेकर धर्मरक्षाके लिए सिद्ध हों ! - सम्पादक)

रानी विक्टोरियाका पुतला तोडनेवालोंपर कठोर कार्यवाही करें ! - ब्रिटेन

    मथुरा (उ.प्र.) - भारतीयोंको उनकी परतन्त्रताका स्मरण करवानेवाली रानी विक्टोरियाका अष्टधातुका पुतला जो मथुराके संग्रहालयमें था, उसे कुछ दिन पूर्व हिन्दुत्ववादियोंने तोडा । इस प्रकरणमें ब्रिटेनकी सरकारने आरोपियोंपर कठोर कार्यवाही करनेकी मांग भारतसे की । पुलिसने इससे पूर्व ही इन हिन्दुत्वनिष्ठोंपर धारा ३०७ के अन्तर्गत अपराध प्रविष्ट कर, उन्हें बन्दी बना लिया था । इसपर जब हिन्दुत्ववादियोंने प्रतिक्रिया व्यक्त की कि अन्यायपूर्ण है; पुलिसने आरोपियोंके विरोधमें राइफल लूटनेका प्रयत्न, सरकारी सम्पत्तिकी हानि और हत्या करनेका प्रयत्न करना आदि आरोप लगाकर धाराएं बढा दी हैं ।

हुतात्मा गोपाल मुखर्जीके स्मरणार्थ कोलकातामें हुई फेरीमें १० सहस्र हिन्दुओंका सहभाग !

    कोलकाता (बंगाल) - हुतात्मा मुखर्जी उपाख्य पंथाके स्मरणार्थ हिन्दुत्व-वादी संगठनके नेता श्री. तपन घोषके नेतृत्वमें १६ अगस्तको हुई फेरीमें भगतसिंह क्रान्ति सेनाके तेजिंदरपाल सिंह बग्गा एवं बौद्ध भिक्षु करुणालंकर भिक्कू भी सम्मिलित हुए । फेरीके समापनपर श्री. घोष बोले, यदि तृणमूल कांग्रेस मुसलमानोंकी इसी प्रकार चापलूसी करती रही, तो अगस्त १९४६ की पुनरावृत्ति अटल है । मुसलमानोंने पहले कांग्रेस पक्षको अपनी ओर किया और विभाजन करवाया । तदुपरान्त साम्यवादियोंद्वारा धर्मके आधारपर आरक्षण अपनी झोलीमें डलवा लिया । तृणमूल कांग्रेसद्वारा इमामोंके लिए वेतन मान्य करवा लिया और अब वे भाजपाको भी अपने जालमें फांस रहे हैं । तदुपरान्त भगतसिंह क्रान्ति सेनाके श्री. बग्गाजीने भी उपस्थितोंको सम्बोधित किया ।

सनातन प्रभात नियतकालिकोंके पाठकोंसे विनती !

नियतकालिक न मिलना अथवा अनियमितरूपसे मिलना,
इस सन्दर्भमें डाक विभागसे आनेवाली अडचनें सूचित करें और तत्सम्बन्धी
आवेदन-पत्र डाक विभागके कार्यालयको दें !
- (पू.) श्रीमती बिंदा सिंगबाळ
१. नियतकालिकोंके सन्दर्भमें पाठकोंका बढता हुआ प्रतिसाद और तीव्र गतिसे वृद्धिंगत होनेवाले राष्ट्र-धर्मके कार्यके कारण सभी पाठकोंको घरपर नियतकालिक पहुंचानेके लिए साधकसंख्या अपर्याप्त होना, परिणामस्वरूप कुछ पाठकोंको डाकद्वारा नियतकालिक भेजना अनिवार्य होना : सनातन प्रभातके नियतकालिकोंको समाजकी ओरसे भारी मात्रामें प्रतिसाद मिल रहा है । कई पाठक नियतकालिकोंकी चातकसमान प्रतीक्षा करते हैं । इतना ही नहीं, अपितु इन नियतकालिकोंके नियमित वाचनसे कई पाठक धर्मकार्यमें यथासम्भव योगदान दे रहे हैं, तो कुछ पाठकोंने साधना भी आरम्भ की है ।

मर्दानी चलचित्रके विज्ञापनके लिए राष्ट्रगीतका उपयोग !

व्यावसायिक उद्देश्यसे राष्ट्रगीतका उपयोग करनेवाला विश्‍वका एकमात्र देश भारत !
    मुंबई (महाराष्ट्र)- शीघ्र ही प्रदर्शित होनेवाले मर्दानी, इस चलचित्रके विज्ञापनके लिए राष्ट्रगीतका उपयोग किया गया है । इसलिए राष्ट्रप्रेमी नागरिकोंकी राष्ट्रीय भावनाएं आहत हुई हैं । इस चलचित्रका विज्ञापन चलचित्रगृहमें दिखाया जा रहा है । इस चलचित्रमें अभिनेत्री रानी मुखर्जीकी प्रमुख भूमिका है और इसका विज्ञापन चलचित्रगृहोंमें दिखाया जा रहा है । इसमें ऐसा दिखाया गया है कि रानी मुखर्जीके पास खडी महिला पुलिस अधिकारी यह सम्पूर्ण राष्ट्रगीत गा रही हैं ।

राष्ट्रप्रेमी, धर्मप्रेमी तथा हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनोंको आवाहन !

बांग्लादेशी (मुसलमान) घुसपैठियोंको शस्त्र देकर, दूसरा पाकिस्तान
बनानेके षडयन्त्रको सफल बनानेमें जुटी असमके कांग्रेस शासनको ऐसा करनेसे रोकें !
(पू.) श्री. संदीप आळशी
स्वतन्त्रताकालके पूर्व कांग्रेस सरकारने देशके विभाजनको मान्यता दी थी । परिणामस्वरूप भारतके पडोसमें पाकिस्तानके रूपमें शस्त्रसज्ज एवं युद्धपिपासु शत्रु सदाके लिए बस गया । अब, बांग्लादेशी घुसपैठियोंको अपनी रक्षाके लिए शस्त्र देनेवाले असम राज्यके कांग्रेस शासनने, इससे भविष्यमें उत्पन्न होनेवाले संकटोंपर विचार किया है क्या ?

तृतीय अखिल भारतीय हिन्दू अधिवेशनके लिए उपस्थित हिन्दुत्वनिष्ठोंके प्रयासोंकी दिशा

१. वैदिक उपासना केन्द्रके अन्तर्गत साधना करनेवाले हिन्दू धर्माभिमानी और गोवाके तृतीय हिन्दू अधिवेशनमें उपस्थित इन्दौरके श्री. त्रिपुरारी शर्माने इन्दौर प्रेस क्लबमें इस वर्ष गुरुपूर्णिमा मनाई । इसमें ५५ लोग उपस्थित थे । विशेष बात यह है कि उन्होंनेे गुरुके स्थानपर सनातन संस्थाके संस्थापक प.पू. डॉक्टरजीका छायाचित्र रखकर कार्यक्रम मनाया । साथ ही कार्यक्रमके प्रवचनमें श्री. त्रिपुरारी शर्माने तृतीय हिन्दू अधिवेशनमें हिन्दू राष्ट्र्रकी आवश्यकता विषयपर लिए गए सूत्र (उदा. लव जिहाद, गोहत्या इत्यादि) उपस्थितोंको बताए ।

तृतीय अखिल भारतीय हिन्दू अधिवेशन २०१४ में सम्मिलित हुए कुछ मान्यवरोंके विचार

हिन्दू प्रतिकार करनेके लिए सिद्ध हो जाएं, तो ऐसी बिकट स्थितिमें भी बांग्लादेश,
श्रीलंका, नेपाल, पाकिस्तान एवं अफगानिस्तानको लेकर हम अखण्ड हिन्दू राष्ट्र स्थापित करेंगे !  श्री. उपानंद ब्रह्मचारी, सम्पादक, हिन्दू एक्जिस्टन्स, बंगाल
श्री. उपानंद ब्रह्मचारी
हमें एक अभ्यास समितिको बांग्लादेशमें भेजकर वहांके हिन्दुआेंकी स्थितिका अभ्यास करना होगा । तदुपरान्त वहांकी प्रधानमन्त्री हसीना शेखसे मिलकर उस अभ्यासका ब्यौरा देना होगा । हमें देखना होगा कि वहांके हिन्दुओंके सन्दर्भमें क्या हो रहा है ।  सर्वत्रके हिन्दू सुरक्षित होने चाहिए । हमें बांग्लादेशके साथ-साथ पाकिस्तान, श्रीलंका, नेपालमें हिन्दुओंकी स्थितिका भी अभ्यास करना चाहिए ।

प्रसिद्धिमाध्यम चर्चासत्रमें आमन्त्रित करें, ऐसी पात्रता स्वयंमें निर्माण करें ! - श्री. चव्हाणके

श्री. सुरेश चव्हाणके
     प्रसिद्धिमाध्यम हिन्दुत्वनिष्ठोंको स्वयं आगे आकर चर्चासत्रोंके लिए आमन्त्रित करेंगे, ऐसी पात्रता हिन्दुुत्वनिष्ठोंको स्वयंमें निर्माण करनी चाहिए । इस हेतु हिन्दुत्वनिष्ठोंद्वारा किया गया कार्य प्रसिद्धिमाध्यमोंतक पहुंचना आवश्यक है ।

६१ प्रतिशत आध्यात्मिक स्तर प्राप्त किए हुए भारत रक्षा मंचके भारतीय महासचिव श्री. मुरली मनोहर शर्माजीके विषयमें ध्यानमें आए कुछ सूत्र

श्री. मुरली मनोहर शर्मा
१. प्रथम सम्पर्कमें ही समितिके प्रति अपनापन लगना : भारत रक्षा मंचके भारतीय महासचिव श्री. मुरली मनोहर शर्माजी गोवामें हिन्दू जनजागृति समितिद्वारा आयोजित तृतीय अखिल भारतीय अधिवेशनमें पहली बार ही आए थे; परन्तु उन्हें समितिके प्रति इतना अपनापन लग रहा था, जैसे वह गत अनेक वर्षोंसे सभीसे परिचित हैं ।
२. उनकी वाणीमें आत्मीयता एवं सहजता थी । 
३. समयका पालन करना : उन्होंने कहा, मुझे दिए गए समयका मैं पालन करूंगा । मुझे २० मिनटका समय दिया गया है । मैं २१ वां मिनट भी नहीं लूंगा; क्योंकि सभी वक्ताआेंको अपने विचार प्रस्तुत करने हैं । अत: मैं उनका समय नहीं लूंगा । - श्रीमती विदुला हळदीपुर, कर्नाटक

कश्मीरी हिन्दू बलिदान दिन (१४ सितम्बर)

स्वधर्मकी रक्षा हेतु कश्मीरी हिन्दू हुए विस्थापित !
अपनी धन-संपत्तिपर तिलांजलि
देकर विस्थापित हुए लाचार हिन्दू...
 अबतक कश्मीरी हिन्दुआेंका पुनर्वास न किया जाना, सन्तापजनक  !
   १९९० के दशकमें कश्मीर घाटीमें जिहादी आतंकवादने अपनी सभी सीमाएं तोड दीं । १९ जनवरी १९९० को कट्टरपन्थियोंने हिन्दू कश्मीरसे चले जाएं, ऐसी धमकी सार्वजनिक रूपसे मस्जिदके भोंपू, समाचार-पत्र तथा पत्रकोंद्वारा दी । इन कट्टरपन्थियोंने कश्मीरी हिन्दुओंके समक्ष तीन पर्याय रखे, जो इसप्रकार थे - धर्म-परिवर्तन करो, कश्मीर छोडो अथवा मरनेके लिए सिद्ध हो जाओ।

हिन्दी राज भाषा दिन (१४ सितंबर) के उपलक्ष्यमें ....

आधुनिक विज्ञानकी परिभाषा संस्कृत भाषाका आधार लेकर बनाना आवश्यक
    काव्य, तत्त्वज्ञान, रसायन, वैद्यक, पदार्थविज्ञान, यांत्रशिल्प, भूगर्भ, राज्यशास्त्र, समाजशास्त्र, अर्थशास्त्र, ये समस्त विचारशाखाएं विकसित हो जाएं; परन्तु उसके पोषण हेतु आवश्यक विषयानुरूप परिभाषा कैसे बनाएं ? स्वा. सावरकर परामर्श देते हैं कि, केवल शब्दरत्नोंके सागरके रूपमें सुशोभित, हिन्दीके (मराठीके) प्रकृतिके अनुकूल, जो उसके प्रतिरूपके रूपमें शोभायमान हो, उस सुसम्पन्न संस्कृत भाषाका आधार लेकर उसे सिद्ध करें । आज भी विश्‍वमें शब्दप्रसव क्षमतामें संस्कृत समतुल्य हो, ऐसी कोई अन्य भाषा नहीं मिलेगी । संस्कृत भाषाका शब्दरत्नाकर एवं साहित्य-क्षीरसागर द्वारपर होते हुए भी, हम भिक्षापात्र हाथमें लेकर मरुस्थलमें पानी-पानी करते हुए क्यों भटकें ?- प्राचार्य शिवाजीराव भोसले
भारतीयो, क्या आप जानते हैं ? :
अंग्रेजी भाषामें केवल १२ सहस्र शब्द हैं, जबकि राष्ट्रभाषा हिन्दीमें ७० सहस्र शब्दोंका भण्डार है !

पितृपक्षमें (पितर पक्षमें) श्राद्धका महत्त्व

    आश्‍विन माहके कृष्ण पक्षमें श्राद्ध किया जाता है । इस वर्ष ९ सितम्बरसे आरम्भ होकर २४ सितम्बर (रात्रि ११.४४) तक है । हिन्दू धर्ममें श्राद्ध करनेके अधिकारके सन्दर्भमें ऐसी व्यवस्था की गई है कि प्रत्येक मृत व्यक्तिका श्राद्ध हो एवं उसे सद्गति प्राप्त हो । पुत्र (जिसका उपनयन नहीं हुआ है वह भी), कन्या, पौत्र, प्रपौत्र, पत्नी, संपत्तिमें भागीदार कन्याका पुत्र, सगा भाई, भतीजा, चचेरे भाईका पुत्र, पिता, माता, बहू, बडी तथा छोटी बहनके पुत्र, मामा, सपिंड (सात पीढियोंतकके कुलका कोई भी), समानोदक (७ पीढियोंके पश्‍चात गोत्रका कोई भी), शिष्य, उपाध्याय, मित्र, जमाई इस क्रमसे पहला न होनेपर दूसरेको श्राद्ध करना चाहिए ।

नवरात्रि

    महिषासुरका नाश करनेके लिए अवतार लेनेवालीं श्री दुर्गादेवीके उत्सवको ही नवरात्रि कहते हैं ! २५ सितम्बरसे नवरात्रारम्भ (घटस्थापनासे) हो रहा है । इस कालावधिमें हिन्दू अधिकाधिक नामजप कर, देवीतत्त्वका अधिकाधिक लाभ ले सकते हैं । परन्तु, आजकल अनाचारोके कारण उत्सवकी पवित्रता घटती जा रही है । इसलिए देवीतत्त्वका लाभ नहीं हो पा रहा है । अनाचारोंको रोककर उत्सवकी पवित्रता बनाए रखना धर्मपालन ही है !

विश्‍वकर्मा जयन्ती

        १७ सितम्बरको विश्‍वकर्मा स्मृतिदिन (दिनांकानुसार) है । विश्‍वकर्मा एक वैदिक देवता हैं । इनका एक नाम त्वष्टा है । ऋग्वेदोंके एक सुक्तमें (१०.१२१) इन्हें पृथ्वी, जल एवं प्राणिका निर्माता माना गया है । सर्व देवताओंका नामकरण भी इन्होंने ही किया है । इनके असंख्य मुख, नेत्र, भुजा, पैर, पंख आदि अवयव हैं । इन्हें सर्वद्रष्टा प्रजापति भी कहा जाता है । सृष्टिके प्रारम्भमें केवल इनका ही अस्तित्व था ।

दशहरा और उसका अध्यात्मशास्त्रीय महत्त्व

दशका अर्थ है दस और हरा अर्थात हार गया या पराजित हुआ । आश्‍विन शुक्ल दशमीकी तिथिपर दशहरा मनाते हैं । इस वर्ष ३ अक्टूबरको है । दशहरेके पूर्वके नौ दिनोंमें अर्थात नवरात्रिकालमें दसों दिशाएं देवीमांकी शक्तिसे आवेशित होती हैं । दशमीकी तिथिपर ये दिशाएं देवीमांके नियन्त्रणमें आ जाती हैं अर्थात दिशाओंपर विजय प्राप्त होती है । अत: इसे दशहरा कहते हैं । दशमीके दिन विजयप्राप्ति होनेके कारण इस दिनको विजयादशमी के नामसे भी जानते हैं । विजयादशमी साढेतीन मुहूर्तोंमेंसे एक है । इस दिन कोई भी कर्म शुभफलदायी होता है ।

स्वतन्त्रतादिवसपर समाजमें राष्ट्राभिमान वृद्धिंगत करने हेतु सनातन संस्था एवं हिन्दू जनजागृति समितिकी ओरसे विविध उपक्रम

राष्ट्रध्वजका अनादर रोकने एवं प्लास्टिकके राष्ट्रध्वजकी
बिक्रीपर प्रतिबन्ध हेतु शासकिय अधिकारियोंको ज्ञापन
तनावमुक्तिके लिए अध्यात्म और राष्ट्रध्वजका अपमान रोकना
इन विषयोंपर व्याख्यान देती हुईं सनातनकी साधिकाएं
 १. वाराणसीमें, वाराणसी मण्डलके  श्री. राजेन्द्र मोहन श्रीवास्तव, जिलाधिकारीके प्रतिनिधि श्री. सत्यप्रकाश शर्मा तथा पुलिस महानिरीक्षक वाराणसीके श्री. एस. के. भगतको ज्ञापन दिया गया ।
२. फरीदाबादके सिटी मजिस्ट्रेट श्री. गौरव अंतिलजीको निवेदन देनेपर उन्होंने तुरन्त अपने कार्यालयको निर्देश दिए कि सभी शिक्षण संस्थानों तथा व्यापारिक संघोंको पत्रद्वारा राष्ट्रध्वजका अपमान रोकनेके आदेश जारी किए जाएं ।

अखिल भारतीय हिन्दू महासभाकी राज्यस्तरीय बैठकमें हिन्दू जनजागृति समितिकी ओरसे हिन्दू राष्ट्र विषयपर भाष्य

    २७ जुलाईको अखिल भारतीय हिन्दूू महासभाकी अर्धवार्षिक राज्यस्तरीय बैठक सम्पन्न हुई, जिसमें महासभाके ५५ पदाधिकारी उपस्थित थे । हिन्दूू जनजागृति समितिके मध्यप्रदेश समन्वयक श्री. योगेश व्हनमारेने 'हिन्दू राष्ट्र्र : समयकी मांग' इस विषयपर प्रवचन दिया; जिसमें परात्पर गुरु प.पू. डॉ. जयंत आठवलेद्वारा प्रतिपादित हिन्दू राष्ट्र स्थापनाकी समय-सारिणी, अनिवार्यता तथा उसकी स्थापना कैसे होगी आदि सूत्रोंपर भाष्य किया ।
    कार्यक्रममें मुख्य अतिथिके रूपमें महामण्डलेश्‍वर लक्ष्मणदासजी महाराज भी उपस्थित थे ।

श्रावण माहके उपलक्ष्यमें मेरठके श्री औघडनाथ शिव मन्दिरमें आयोजित सनातनकी प्रदर्शनीको उत्तम प्रतिसाद

ग्रन्थ-प्रदर्शनीका लाभ लेते हुए भक्तगण
    मेरठ (उ.प्र.)  यहांके श्री औघडनाथ शिव मन्दिरमें सनातन संस्थाद्वारा ग्रन्थ-प्रदर्शनीको उत्तम प्रतिसाद मिला । यह मन्दिर लघुकाय स्वयंभू शिवलिंगका प्राचीन सिद्धपीठ है । मन्दिरके महामन्त्री श्री. सतीश सिंघलजी और मन्दिर समितिके अन्य सहकारियोंने भी प्रदर्शनीके लिए पूरा सहयोग दिया । 

बिहारके प्रसारकार्यमें जिज्ञासुआेंके सराहनीय प्रयास

१. हिन्दू जनजागृति समितिके जालस्थलसे जुडे हिन्दुत्वनिष्ठ श्री. महेश प्रसादके माध्यमसे श्री. लल्लन कुमारसे पहली बार सम्पर्क हुआ । सनातनद्वारा प्रकाशित ग्रन्थ देखकर ये बहुत प्रभावित होकर कहने लगे, मैं जिसकी खोजमें था, वह यही है । तदुपरान्त उन्हें दिखाए हुए सभी ग्रन्थ खरीद लिए । इससे पहले सनातन संस्थाद्वारा प्रकाशित एक दृश्यश्रव्य-चक्रिका (वीसीडी) खरीदी थी । जिसे वे मित्रोंको दिखाकर उनमें जागृति लानेका प्रयास कर रहे हैं और उन्हें लोगोंसे उत्तम प्रतिसाद मिल रहा है ।

जमशेदपुर गुरुपूर्णिमा महोत्सवमें समाजसे मिला उत्तम प्रतिसाद

१. टी.ई.पी.एल. केबल वाहिनीके श्री. अशोक वदानीजीने सनातन संस्थाद्वारा आयोजित गुरुपूर्णिमा कार्यक्रमका निमन्त्रण स्वयं बनाकर, सप्ताहभर पूर्वसे ही वाहिनीपर निरन्तर प्रसारित किया, जिसे पढकर लगभग ४० जिज्ञासु कार्यक्रममें आए  ।
२. श्रीराममन्दिर समितिके श्री. शंकर राव, श्री. मनमधराव एवं श्री. पांडुरंग रावजीने मन्दिरका सभागृह नि:शुल्क उपलब्ध करवाया । श्री. रमनरावजीने और श्री. दीपकजीने टेंट एवं विद्युतकी अच्छी व्यवस्था की थी ।

एन.आई.टी. की ओरसे आयोजित एम.सी.ए. की प्रवेश परीक्षामें सनातनकी साधिका कु. मृणालिका शर्माने प्राप्त किया ७९ वां स्थान

कु. मृणालिका शर्मा
जमशेदपुर (झारखंड) - जमशेदपुरकी सनातनकी साधिका कु. मृणालिका शर्माको एन्.आई.टी. (नैशनल इन्स्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी) द्वारा आयोजित एम्.सी.ए. की प्रवेश परीक्षामें पूरे भारतमें ७९ वां स्थान प्राप्त हुआ । साथ ही बनारस हिन्दू विश्‍वविद्यालयकी एम.सी.ए. की प्रवेश परीक्षामें पूरे देशमें ४७ वां स्थान प्राप्त हुआ है । कु. मृणालिकाने कहा कि नामजप, प्रार्थना और कृतज्ञता तथा प.पू. डॉ. आठवलेकी कृपासे ही यह सफलता प्राप्त हुई है ।

साधको, स्वीकारनेकी वृत्ति निर्माण करनेसे होनेवाले लाभ भली-भांति समझकर, ईश्‍वरीय-कृपा सम्पादन हेतु प्रयत्न करें !

(पू.) श्रीमती योया वाले 
जन्म-जन्मान्तरके संस्कारोंके कारण स्वभावदोष, अहं और स्वीकारनेकी वृत्ति आदिकी निर्मिति होना और प्रत्येक प्रसंगको स्वीकार करना सम्भव हो, इसलिए साधना अच्छी होना अधिक महत्त्वपूर्ण है । साधक मुझसे आकर पूछते थे कि किसी प्रसंगमें स्वीकारनकी वृत्ति बढानेके लिए क्या करना चाहिए, जिससे उन्हें साधनामें प्रगति करनेमें सहायता हो ? तब साधकोंसे बात करनेके उपरान्त, उसपर हुए चिन्तनके समय ध्यानमें आए सूत्र प्रस्तुत कर रही हूं ।
- (पू.) श्रीमती योया वाले 

१.१०.२०१४ से ३०.९.२०१७, इन ३ वर्षोंकी कालावधिमें सभीके लिए आवश्यक उपाय !

१. विविध चक्रोंपर लगानेके देवताओंके चित्र : देवताका चित्र शरीरको स्पर्श कर बाहरकी दिशामें मुख कर (निर्गुण) रखना है अथवा भीतरकी दिशामें मुख कर (सगुण) रखना है, यह नीचे दिया है । सम्बन्धित देवताकी नामपट्टीका प्रयोग करना हो, तो उसके अक्षरोंके सन्दर्भमें ऐसा ही कर सकते हैं। अनाहतचक्रके नीचेके चक्रोंके लिए नामपट्टीका उपयोग करें ।

कौसरनाग (कश्मीर) में हिन्दुओंके तीर्थस्थलपर कट्टरपन्थियोंद्वारा अवैध मस्जिदका निर्माण : प्रशासनद्वारा देखकर भी अनदेखा करना !

    श्रीनगर (कश्मीर) - एक ओर कौसरनागके  हिन्दुओंके प्रसिद्ध मेलेपर कश्मीर शासनद्वारा प्रतिबन्ध लगा दिया है, तो दूसरी ओर वहींपर कट्टरपन्थियोंद्वारा एक अवैध मस्जिदका निर्माण कर वहांपर प्रतिदिन नमाज भी पढा जा रहा है । प्रशासनने अबतक उसपर कोई कार्यवाही नहीं की है । इसके पूर्व कश्मीरमें शंकराचार्यकी पहाडीका तख्त-ए-सुलेमान, नामकरण किया था ! (हिन्दुओ, अवैध मस्जिदका निर्माणकार्य होनेकी बात ध्यानमें आनेपर भी उसपर कोई कार्यवाही न करनेवाले ऐसे अधिकारियोंपर कठोर कार्यवाही होनेके लिए संगठित होकर हिन्दू राष्ट्रकी स्थापना करें ! - सम्पादक)

ग्रन्थ वितरक और साधकोंके लिए महत्त्वपूर्ण सूचना

पूर्वमें प्रकाशित हुए ग्रन्थोंके संस्करणोंकी बिक्री प्रधानतासे करें !
    ऐसा ध्यानमें आया है कि सनातनके विविध प्रभागोंके ग्रन्थसंग्रहोंमें तथा प्रमुख वितरकोंके पास सनातन-निर्मित ग्रन्थोंके पूर्वमें प्रसिद्ध हुए अनेक संस्करणोंकी प्रतियां शेष हैं । इससे ध्यानमें आ रहा है कि ग्रन्थबिक्री करते समय साधक नए मुद्रित संस्करणोंकी बिक्रीको प्रधानता दे रहे हैं । परिणामस्वरूप पूर्वमें प्रसिद्ध हुए ग्रन्थोंके संस्करणोंकी प्रतियां शेष रहती हैं और कालान्तरसे उनके पृष्ठ पीले पडते हैं । ऐसे ग्रन्थ बिक्री करनेयोग्य नहीं रहते । इससे होनेवाले गुरुधनकी हानि टालनेके लिए साधक निम्न सूत्रोंकी ओर ध्यान दें ।

हिन्दू धर्मबन्धुओ, अपने राष्ट्र्रधर्मको पहचानें !

(पू.) श्री. संदीप आळशी
    कश्मीरके विस्थापित हिन्दुआेंका प्रश्‍न हो, बांग्लादेशके अत्याचारोंसे पीडित शरणार्थी हिन्दुआेंका अथवा देशमें कट्टरपन्थियोंद्वारा किए दंगेमें पीडित हिन्दुआेंका, भारतके अनेक हिन्दुआेंकी भूमिका होती है, उनका भाग्य ही ऐसा है, तो हम इसमें क्या कर सकते हैं ? यह बात सही है; परन्तु कहनेसे पूर्व इसपर अवश्य विचार करें...
१. स्वतन्त्रतापूर्वकालमें देशकी जनता अंग्रेजोंसे त्रस्त थी, तब क्रान्तिकारियों और राष्ट्रपुरुषोंके त्यागके कारण हम आज स्वतन्त्रता उपभोग रहे हैं ।

अमरनाथ यात्रापर कट्टरपन्थियोंका आक्रमण कोई दुर्घटना नहीं, इस यात्रापर प्रतिबन्ध लगानेका षड्यन्त्र है ! - पू. (डॉ.) चारुदत्त पिंगळे, राष्ट्रीय मार्गदर्शक, हिन्दू जनजागृति समिति

देहलीके जंतर-मंतरपर राष्ट्रीय
हिन्दू आन्दोलनमें सम्मिलित धर्माभिमानी हिन्दू
     अमरनाथ यात्राको सुरक्षा प्रदान करने, मानचित्रमें अरुणाचलप्रदेशको चीनमें दिखानेके विरोधमें, आइएसआइएस आतंकवादी संगठनको समर्थनके विरोधमें, हिन्दू सन्तोंकी अपकीर्ति रोकने, महाराष्ट्र सरकारद्वारा मुसलमानोंको ५ प्रतिशत आरक्षण देनेके निर्णयके विरोधमें तथा आंध्रप्रदेशमें श्रीशैलके श्री मल्लिकार्जुन मन्दिर कलशका पुनर्निर्माण करने हेतु देशभरमें राष्ट्रीय हिन्दू आन्दोलन !

भारतको विश्‍वके मानचित्रसे मिटा देंगे !: पाकके पीरजादाकी टाइम्स नाऊके चर्चासत्रमें भारतको धमकी

  हिन्दूद्रोही सूत्रसंचालक अर्णब गोस्वामीकी बोलती बन्द !
        मुम्बई - टाइम्स नाऊ इस अंग्रेजी दूरदर्शनवाहिनीके न्यूजआवर इस कार्यक्रमके एक चर्चासत्रमें पाकके प्रवक्ताके रूपमें आए सय्यद तारिक पीरजादाने प्रक्षोभक धमकी दी है । भारतीयोंको सम्बोधित कर उन्होंने कहा, आप नहीं जानते कि युद्ध होनेपर, हम आपको तहस-नहस कर देंगे (धूलमें मिला देंगे) । सब कुछ इधरका उधर कर देंगे । विश्‍वके मानचित्रसे भारतको मिटा देंगे...!

मोदी शासनके वित्तीय बजटमें सिंहस्थ कुम्भमेलेके लिए आवश्यक राशिका उल्लेख ही नहीं !

हिन्दुत्वके सूत्रपर निर्वाचित मोदी शासनके पास हिन्दुआेंको
कुम्भमेलेके लिए वित्तीय सहायताकी मांग करनी पडती है, यह लज्जाजनक !
   नासिक - २०१५ में नासिक-त्र्यम्बकेश्‍वरमें होनेवाले कुम्भमेलेके लिए लगभग २ सहस्र ३७८ करोड रुपयोंका प्रारूप बनाया गया है; परन्तु १० जुलाईके मोदी शासनके बजटमें इस कुम्भमेलेके लिए कोई प्रावधान न किए जानेकी बात ध्यानमें आई । इसलिए नासिकवासियोंने मांग की है कि नासिक और दिण्डोरीके जनप्रतिनिधियोंको बजटकी चर्चामें सिंहस्थके राशिका प्रश्‍न उपस्थित करना चाहिए और शासनको भरपूर राशि उपलब्ध करवानेके लिए मनाना चाहिए ।

दैनिक लोकसत्तामें नरेंद्र मोदीको श्री विठ्ठलके रूपमें दिखाकर किया गया अनादर

हिन्दुओ, आपके आस्थास्थानोंपर हो रहे
इन आघातोंके विरोधमें वैध मार्गसे रोष व्यक्त करें !
मुंबई - दैनिक लोकसत्ताके ११ जुलाई के संस्करणमें पृष्ठ १ पर वित्तीय बजटका समाचार देते हुए श्री. नरेंद्र मोदीको करोडों हिन्दुआेंके आस्थास्थान भगवान विठ्ठलके रूपमें दिखाकर व्यंग्य चित्रकार नीलेशने अनादर किया । श्री विठ्ठलके रूपमें मोदीके कन्धोंपर दो, गलेमें एक और हाथमें एक कमल बंधा दिखाया गया । साथ ही इस संस्करणमें वित्तीय बजटके प्रावधानोंके समाचारमें सन्त तुकाराम महाराजके अभंगोंका उपयोग किया गया, अर्थमन्त्री अरुण जेटली केवल एक माध्यम हैं और मोदीको गोविन्द (श्रीकृष्ण) की उपमा देनेवाली पंक्तियां इस चित्रके नीचे दी गईं हैं । इससे धर्माभिमानी हिन्दुआेंकी धर्मभावनाएं आहत हुई हैं । (हिन्दू असंगठित और अतिसहिष्णु होनेसे ही उनके आस्थास्थानोंका इस प्रकार अनादर किया जाता है ! हिन्दुआेंमें धर्मशिक्षाका अभाव होनेके कारण ही वे ऐसे कुकर्म कर पापके भागीदार बन रहे हैं । इस स्थितिमें परिवर्तन लानेके लिए हिन्दुआेंको धर्मशिक्षा देना अनिवार्य है ! - सम्पादक) 
धर्माभिमानी हिन्दू निम्न पतेपर निषेध व्यक्त कर रहे हैं ।
दैनिक लोकसत्ता, मुंबई 
दू.क्र. : (०२२) २२०२२६२७, ६७४४००००
फैक्स क्र. : (०२२) २२८२२१८७
इमेल : loksatta@expressindia.com